Loading

wait a moment

मोदी सरकार 2.0 : रेल मंत्री पीयूष गोयल ने पेश किया अपने 100 दिन का हिसाब-किताब

रेल मंत्री पीयूष गोयल की तरफ से जो रिपोर्ट कार्ड पेश किया गया वो आम जनता को जरूर सुखद लगेगा। बता दें कि रेल मंत्री की तरफ से पेश किए रिपोर्ट कार्ड में बताया गया है कि मोदी सरकार के शुरुआती 100 दिनों में यात्रियों की सुरक्षा का खास ध्यान रखा गया।

नई दिल्ली। मोदी सरकार 2.0 के 100 दिन पूरे होने पर सरकार में केंद्रीय मंत्री अपना रिपोर्ट कार्ड पेश कर रहे हैं। इसको लेकर दूरसंचार, सूचना प्रौद्योगिकी और कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद, रेलवे और वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल, पेट्रोलियम और इस्पात मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जैसे बड़े कैबिनेट मंत्रियों को जिम्मा दिया गया है, जो समय-समय पर मीडिया के जरिए जनता को 100 दिनों में किये गए अपने कार्यों की जानकारी दे रहे हैं।

इसी कड़ी में रेल मंत्री पीयूष गोयल की तरफ से जो रिपोर्ट कार्ड पेश किया गया वो आम जनता को जरूर सुखद लगेगा। बता दें कि रेल मंत्री की तरफ से पेश किए रिपोर्ट कार्ड में बताया गया है कि मोदी सरकार के शुरुआती 100 दिनों में यात्रियों की सुरक्षा का खास ध्यान रखा गया। पेश किये गए आंकड़ों की मानें तो अप्रैल 2019 से अगस्त तक मृत यात्रियों की संख्या शून्य रही है। यही नहीं आतंकवाद और नक्सलवाद के खतरे से निपटने के लिए पहली रेलवे कमांडो बटालियन ‘कोरस’ की शुरुआत की गई।

रेलवे ट्रैक दोहरीकरण के कार्य

रिपोर्ट कार्ड में बताया गया कि नए रेलवे ट्रैक और मौजूदा रेलवे लाइन्स के दोहरीकरण के कार्य को तेजी से किया जा रहा है। इन 100 दिनों में इस कार्य में 36 फीसदी की वृद्धि हुई है। जहां 2018 के अप्रैल-अगस्त में 518 किमी. लाइन्स बिछाई गई, वहीं 2019 के अप्रैल-अगस्त में 704 किमी. का कार्य हुआ।

ट्रेनों को उच्च कोटि के मानकों पर अपग्रेड

इसके अलावा यात्रियों की सेवाओं में वृद्धि के लिहाज से 95 ट्रेनों को उच्च कोटि के मानकों पर अपग्रेड किया गया, कोच उत्पादन में भी 29 फीसदी बढ़त मिली है। बता दें कि पहली वंदे मातरम ट्रेन की शुरुआत के बाद अब रेलवे की नजर जल्द ही दूसरे वंदे मातरम ट्रेन की शुरुआत करने पर है।

सिंगल यूज प्लास्टिक का उपयोग नहीं

स्वच्छ भारत अभियान को लेकर भी रेलवे काफी सजग है। ट्रेनों में स्वच्छता के लिए सुविधा को बेहतर करने के लिहाज से अप्रैल से अगस्त तक 24 हजार से भी अधिक ट्रेनों में बायो-टॉयलेट लगाए गए। इतना ही नहीं आगामी 2 अक्टूबर को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वींं जयंती है, इस दिन से ट्रेनों में सिंगल यूज प्लास्टिक का उपयोग नहीं होगा।

रेल नीर प्लांट की शुरुआत

साफ पानी को लेकर रिपोर्ट कार्ड में बताया गया कि यात्रियों को साफ पानी मिल सके, इसके लिए मंडीदीप, भोपाल में रेल नीर प्लांट की शुरुआत की गई। वहीं सफर के दौरान मिलने वाले खाने की गुणवत्ता को बेहतर बनाने के लिए रेलवे ने लाइव किचन फीड से जुड़े QR कोड वाले फूड पैकेट्स की शुरुआत की है।

यात्रियों को SMS के जरिए जानकारी

पीयूष गोयल ने बताया कि 4 हजार से भी ज्यादा रेलवे स्टेशनों पर नि:शुल्क हाई स्पीड वाई-फाई की सुविधा मिल रही है। इसके अलावा रेल टिकट की हर एक जानकारी, जैसे टिकट बुकिंग, टिकट की स्थिति या आरक्षण चार्ट की स्थिति SMS के जरिए यात्रियों तक पहुंचाई जा रही है। जिससे यात्रियों का सफर सुविधाजनक हो सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *